DDR क्या है, DDR1, 2, 3, 4, 5 में क्या अंतर है

0

DDR क्या है – दोस्तों इस लेख में आप जान पायेंगे की DDR1, DDR2, DDR3, DDR4, DDR5 क्या हैं और इनमे क्या अंतर होते हैं. एक कंप्यूटर या लैपटॉप यूजर RAM लेते समय DDR शब्द जरुर सुनता है. हमें इसके बारे में पता नहीं रहता है तो हम दुकानदार जैसा बोलता है वैसे ले लेते हैं. लेकिन आज आपका डाउट क्लियर हो जायेगा क्योकि इस लेख में हम इनके अंतर के बारे में जानने वाले हैं.

DDR क्या है

अगर आप कंप्यूटर के RAM के बारे में जानते हैं तो DDR सिस्टम के बारे में भी जानना जरुरी है. इससे कभी भी आपके कंप्यूटर में RAM की समस्या नहीं होगी. इस लेख में DDR1, DDR2, DDR3, DDR4 और DDR5 से सम्बंधित पूरी जानकारी देने वाले हैं. चलिए सबसे पहले DDR के बारे में जान लेते हैं.

DDR क्या है

DDR यानि Double Data Rate को सन 1998 में Introduce किया गया था. यह SDR यानि Single Data Rate का अपडेटेड संस्करण है. SDR एक CPU Clock Cycle में सिर्फ एक ही सिग्नल ट्रांसमिट कर पाता था, लेकिन DDR में एक CPU Clock Cycle में दो सिग्नल ट्रांसमिट किये जाते हैं. जिसकी वजह से कंप्यूटर काफी तेज काम करने लगा.

SDR vs DDR

इसे सबसे पहले SDRam के साथ Introduce किया गया था. इसके बाद सन 2000 से DDR के 1st और Independent जनरेशन की शुरुआत हुई. फिर धीरे-धीरे DDR1, DDR2, DDR3 और DDR4 को लांच किया गया. अभी का लेटेस्ट वर्शन DDR5 है, लेकिन अभी इसे सिर्फ कुछ ही कंपनियाँ बना रही हैं. अब चलिए इनके जनरेशन को जान लेते हैं.

DDR1 RAM की जानकारी

जैसा की हमने बताया की इसे सन 2000 में लाया गया था. DDR1 को Individual DDR के नाम से लांच किया गया था. इसमें जो Chips लगे रहते हैं जिसे Transister कहा जाता है वे काफी बड़े होते हैं.(आप नीचे इमेज में देख सकते हैं.) DDR1 RAM 2.5 से 2.6 Volt सप्लाई में काम करती थी तथा इसकी क्षमता (Data Transfer Rate) 1.6GB/s से 3.2GB/s और Frequency 133MHz होती थी.

DDR1 RAM

DDR1 RAM के अंतर्गत स्पीड, फ्रीक्वेंसी और डेटा ट्रान्सफर रेट के हिसाब से 4 रैम लांच किये गए थे जो क्रमशः DDR-200, DDR-266, DDR-333, DDR-400 थे. DDR1 में SDR से दुगुनी स्पीड से डाटा ट्रान्सफर करने की क्षमता थी. उस समय केवल 128MB से 512MB तक के ही DDR1 RAM उपलब्ध थे.

DDR2 RAM की जानकारी

हम सभी चाहते हैं की हम कंप्यूटर में कोई काम करें तो वह तुरंत हो जाए और उसमे 1 सेकंड से भी कम का समय लगे. इसीलिए भले ही लांच होने के समय DDR1 की स्पीड ज्यादा लगती थी, लेकिन समय के साथ वह भी स्लो लगने लगा था. इसीलिए DDR2 को Introduce किया गया. इसके साथ ही Volt. सप्लाई को कम किया गया और क्षमता को लगभग 3 गुना बढाया गया.

DDR2 RAM

DDR2 को 2003 में लांच किया गया था. इस RAM को चलाने के लिए सिर्फ 1.8 Volt की जरुरत पड़ती है. एवं इसकी क्षमता 3.2GB/s से 8.5GB/s तक थी. इसके अंतर्गत 5 रैम DDR-400, DDR-533, DDR-667, DDR-800, DDR-1066 लांच किये गए थे. आज भी कुछ Low-End PCs में DDR2 RAM ही लगते हैं.

DDR3 RAM की जानकारी

जब लोगों को DDR2 भी स्लो लगने लगा तो DDR3 को लांच किया गया. आने वाले बाकि सभी नए जनरेशन में Transisters को और छोटा किया गया है और वोल्टेज सप्लाई को कम किया गया है. इसको चलाने के लिए 1.5 Volt सप्लाई की जरुरत पड़ती है और इसकी क्षमता को भी बढाया गया है जो की 8.5GB/s से 17GB/s तक है.

DDR3 RAM

DDR3 को 2007 में लांच किया गया था. यह रैम DDR2 से दुगुनी गति से काम करता है. DDR3 RAM के अंतर्गत 5 रैम आते हैं जो की क्रमशः DDR-1066, DDR-1333, DDR-1600, DDR-1866 और DDR-2133 हैं. ये सभी इन RAMs के स्टैण्डर्ड नाम होते हैं.

DDR4 RAM की जानकारी

DDR4 अब तक का Latest वर्शन वाला RAM था जब तक DDR5 को लांच नहीं किया गया था. यह पिछले सभी जनरेशन के RAMs से सबसे ज्यादा तेज था. DDR4 को 2014 में लांच किया गया था. इस Generation में भी Transisters को थोडा और छोटा किया गया है और वोल्टेज सप्लाई को कम किया गया है. इसमें सप्लाई किया जाने वाला करंट 1.05 से 1.2 Volt तक रहता है.

DDR4 RAM

इसका Data Transfer Rate को 12.8GB/s से 25.6GB/s तक बढाया गया था, जो की काफी ज्यादा था. इसके एक सिंगल RAM में 32GB तक का रैम उपलब्ध होता है. इसके अंतर्गत 7 RAM देखने को मिलते हैं जो की क्रमशः DDR-1600, DDR-1866, DDR-2133, DDR-2400, DDR-2666, DDR-2933, DDR-3200 हैं.

DDR5 RAM की जानकारी

DDR5 को SK Hynix के द्वारा October 6, 2020 में ऑफिशियली लांच किया गया था.यह RAM DDR4 के मुकाबले काफी ज्यादा तेज़ और High Frequency की थी. इसकी Frequency 4600MHz से 6400MHz तक है. अगर Speed की बात करें तो इसमें 6.4GB/s तक ही स्पीड मिलती है. हलाकि इसमें वोल्टेज सप्लाई को 1.1 Volt किया है जो की DDR4 से सिर्फ 0.1 Volt ही कम है.

DDR5 RAM

फिर भी यह उन PCs को कुछ राहत जरुर देगा जो ज्यादा Battery Consumption करती हैं. DDR4 में 1 Channel/Stick ही सपोर्ट करती थी मतलब 2 चैनल यूज़ करने के लिए 2 स्टिक लगानी पड़ती थी. लेकिन DDR5 में आप 2 Channel/stick चला सकते हैं. साथ ही जहां DDR4 की मैक्सिमम कैपेसिटी 1 स्टिक में 32GB थी उसे DDR5 में बढ़ा कर 128GB कर दिया गया है.

इसका मतलब आप DDR5 में एक रैम स्टिक 128GB का ले सकते हैं. लेकिन एक बात का ध्यान रखें की DDR5 हर प्रोसेसर को सपोर्ट नहीं करता है. इसके लिए आपको i5 या उससे ऊपर का 12th Generation प्रोसेसर ही यूज़ करना पड़ेगा. DDR5 के बारे में और जानने के लिए नीचे विडियो देखें.

DDR1, 2, 3, 4, 5 में क्या अंतर है?

DDR के Generations में काफी ज्यादा अंतर देखने को मिलता है. सामान्यतः DDR1 से बेहतर DDR2, DDR2 से बेहतर DDR3, DDR3 से बेहतर DDR4 और DDR4 से बेहतर DDR5 है. समय के साथ-साथ इन RAM में Speed, Capacity और Frequency को बढाया गया है और इनके Transisters को छोटा किया गया है. DDR5 की तुलना में DDR1 कुछ भी नहीं है.

इसके साथ ही DDR के हर Generation में RAM स्टिक के बीच का Notch अलग अलग जगह पर होता है. इसीलिए हर हर Generation के हिस्साब से Motherboard अलग-अलग होते हैं. ऐसा नहीं हो सकता कि जिसमे DDR2 लगना है उसमे DDR3 या DDR4 लगा दें. साथ ही Motherboard में दो से तीन खांचे होते हैं, तो एक खांचे में DDR2 और दुसरे खांचे में कोई अन्य Generation का RAM नहीं लगाया जा सकता.

अंतिम शब्द

हमने आपको DDR के Generation DDR1, DDR2, DDR3, DDR4, DDR5 के बारे में काफी जानकारी दे दी है. हमें उम्मीद है आपको समझ आ गया होगा की DDR क्या है और इनमे क्या अंतर होता है. इस जानकारी के साथ आपको अपने अनुसार सही RAM लेने में आसानी होगी. अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो कमेंट में बता सकते हैं.

इन्हें भी पढ़ें:

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा हमें Comment करके बता सकते हैं. साथ ही अगर किसी को इस जानकारी की आवश्यकता है तो इस लेख को नीचे दिए गए सोशल बटन्स की सहायता से Share भी कर सकते हैं.

Harsh Lahre
दोस्तों, मै Harsh Lahre इस Fire Hindi ब्लॉग वेबसाइट का एडिटर और फाउंडर हूँ. इस ब्लॉग में हम टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारियाँ शेयर करते हैं. साथ ही आपकी तकनीकी समस्याओं का समाधान भी बताते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here